VMAX
 
 
 
 

एप की अव्यक्तता कम करने और उपयोगकर्ता के अनुभव को परिमार्जित करने के तीन श्रेष्ठ अभ्यास

VMAX best practices to tackle app latency featured image

यह 2016 है और हम उस युग में हैं जहाँ स्मार्टफोन को सुपर एच डी स्क्रीन, क्वाड और ऑक्टा कोर प्रोसेसर तथा बड़ी रैम और जो कुछ भी उसमें उपलब्ध हो के द्वारा अधिकतम हार्डवेयर प्रदर्शन के लिए बाध्य किया जा रहा है। यहाँ तक कि उपयोगकर्ता आपके एप का उपयोग करते समय धमाकेदार प्रदर्शन की अपेक्षा रखते हैं।

अर्थात कोई ऐसा एप जो औसत उपयोगकर्ता की अपेक्षा से धीमी प्रतिक्रिया देता हो वह कम उपयोग किया जाता है या बुरी स्थिति बरकरार रहने पर उसे हटा दिए जाने की आशंका होती है । 
सत्यता यह है कि एप इंटेलिजेंस एप डायनामिक्स द्वारा यह सुझाव दिया गया है कि जिस एप द्वारा प्रतिक्रिया देने में तीन से चार सेकेण्ड लिए जाते हैं उनसे अधिकतर उपयोगकर्ता ( 60 प्रतिशत या अधिक ) लेन देन त्याग देते हैं या एप को ही पूरी तरह डिलीट कर देते हैं। एक मोबाईल cdn, Neumob, न्यूमोम्ब के अनुसार 48 प्रतिशत उपयोगकर्ता धीमी रफ्तार के कारण एप्स को त्याग देते हैं। 

मेजबान सर्वर द्वारा प्रार्थना स्वीकृति और अपेक्षित प्रति उत्तर देने में हुई देरी अव्यक्तता मानी जाती है । यह सर्वमान्य सिद्धांत है कि प्रार्थना के एक चक्र को लगभग एक सेकेण्ड में प्रति उत्तर दिया जाये।.

इस बात का जांचा जाना सच में महत्वपूर्ण है कि आपका एप कितने समय में प्रतिउत्तर देता है और जरुरी है कि इसे ट्यून और ऑप्टिमाइज़ करके उपयोगकर्ता को बेहतर अनुभव दिया जाये। अनेक कंपनियाँ पहले की अपेक्षा अपने एप्स को अधिक तेजी प्रदान करके उल्लेखनीय व्यावसायिक लाभ अर्जित करने के लिए जानी जा रही हैं। जिन्होंने ऐसा नहीं किया है वे असुविधा का अनुभव करते हैं।   उदाहरणार्थ माइक्रोसॉफ्ट सर्च इंजन बिंग ने पाया है कि पेज लोड करने में हुई दो सेकेण्ड की देरी लाभार्जन में प्रति उपयोगकर्ता 4.3 प्रतिशत की कमी लाती है। तो आप इस तरह की परिस्थितियों से कैसे निबटेंगे ? हम आपके समक्ष पांच बेहतरीन अभ्यास रख रहे हैं जिसके द्वारा आप अपने एप की अव्यक्तता की जांच सुनिश्चित कर सकेंगे। 

  1. फ्रुगल उस खेल का नाम है|
    यह एप जो मूलतत्वों के घनत्व के कारण धीमा पड़ गया। यदि आपके एप में अधिक विडगेट्स हैं तो हर स्क्रीन लोड होने में अधिक समय लेगा।  थोड़े पतले होने से विभिन्न मूलतत्वों की चित्र सम्पदा विभिन्न मूलतत्वों में पुनरुपयोग की जा सकती है जिससे इन संग्रहों की चित्र फ़ाइल को केवल एक बार लोड करना होता है। CSS sprites can help css स्प्राइट इकलौती फ़ाइल में अनेक चित्र संग्रहित करने में आपकी सहायता करता है।

    आप एकमात्र विडगेट में अनेक दर्शनीय मूलतत्व भी  जोड़ सकते हैं। उदाहरणार्थ यदि एप नेविगेशन क्षेत्र में हर बटन हेतु विस्तारित रेखाचित्र हो तो आप सभी रेखाचित्रों को समग्र नेविगेशन क्षेत्र के एकमात्र पृष्ठभूमि चित्र में समायोजित कर सकते हैं। अब आपके एप नेविगेशन आवश्यकताओं को केवल एक चित्र के माध्यम से लोड करें अर्थात और कम समय लगेगा। 

  2. एप सामग्री को और नजदीक रखें।
    एप सामग्री के उपयोगकर्ता से दूर रहने का अर्थ है उन तक पहुँचने में अधिक समय खर्च होना । यह उतना ही सरल है । अतः ऐसी परिस्थिति में संतोषजनक  डिलीवरी नेटवर्क cdn उपयोगी है। Content Delivery Network (CDN). एक भौगोलिक वितरित नेटवर्क सेवा है जो उपयोगकर्ताओं तक स्थैतिज्ञ संतुष्टि पहुंचा कर उन्हें भौगोलिक रूप से एक करती है। सामान्य तौर पर इसे क्षेत्र के बाहर संतुष्टिदायक सेवा देते पाया गया है। चक्रीय यात्रा (raound trip )( rtt ) के दौरान घटा हुआ थोड़ा सा समय उपयोगकर्ता को वापस लाकर विषयवस्तु से जोड़ देता है। यह न केवल एप की अव्यक्तता को कम करता है अपितु आपके बैंडविथ को बचाते हुए आपकी मेजबानी लागत भी कम करता है।
  3. अपने उपयोगकर्ता को व्यस्त रखिए
    एप लोड होने तक उपयोगकर्ता को दूसरी चीजों पर ध्यान देने हेतु समझाएं ।  इसका बेहतर उदाहरण यह है कि जब उपयोगकर्ता इंस्टाग्राम पर तस्वीर लोड करता है तब तुरन्त ही वह शेअर करने हेतु तस्वीर पसन्द करने को पाता है  और अपलोडिंग आरम्भ होती है। जो भी हो , जब यह होता है तब एप, उपयोगकर्ता को टैग्स जोड़ने और पृष्ठभूमि में अपलोड किए जानी वाली तस्वीर का नाम और विवरण देने हेतु आमंत्रित करता है

तस्वीर द्वारा लोड होने में लिए गए समय में उपयोगकर्ता शेयर बटन दबाने के लिए तैयार होता है। उस समय वह तुरन्त तस्वीर शेयर करने की तैयारी में फोटो अपलोडिंग में लग रहे समय से असावधान रहता है । यदि आप सोचते हैं कि आपका एप लोडिंग में अधिक समय लेता है तो प्रगति स्तम्भ या स्क्रीन जगमगाहट द्वारा उसे एप लोडिंग के दौरान व्यस्त रखें। एप के ब्रांड लोगों या कीमती अथवा जुटाये गए सजीव चित्रीकरण द्वारा स्क्रीन पर जगमगाहट प्रकट की जा सकती है। आरम्भ में तेज और अंत में धीमा होता प्रगति स्तम्भ इस बात का अहसास दिलाता है कि लोडिंग तेजी से हो रही है और उपयोगकर्ता को यह आशादायक सांत्वना प्रदान करता है कि एप तेजी से लोड हो रहा है। इस बात का ध्यान रखें कि प्रगति स्तम्भ न रुके अन्यथा उपयोगकर्ता को एप के अकर्मण्य होने की आशंका होगी। 

इन बढ़िया अभ्यासों के करने के अतिरिक्त आप गूगल का वाल्ट अव्यक्ति स्त्रोत औजार समय सूचक भी खोल सकते हैं जो असल विश्व स्पर्श और ध्वनि की अव्यक्ति को मापता है और बेहतर उपयोगकर्ता अनुभव प्रदाता है। यही दिन एवं समय है जब प्रतिउत्तर में दिया गया समय ही एप को बना या बिगाड़ सकता है। यदि इस समय एप की अव्यक्तता पाई जाए तो बेहद संकटपूर्ण होगा अतः एप को निर्मित किया जाए या उसमें नए फीचर्स जोड़े जाएँ।

आगे और लगभग 90 प्रतिशत एप्स, एप्स स्टोर पर मुफ्त उपलब्ध हैं और केवल 3 प्रतिशत उपयोगकर्ता इसे इन एप खरीदी में परिवर्तित करते हैं।  अतः एप विज्ञापन बड़े पैमाने पर मॉनिटाइजेशन मॉडल हेतु उपयोग होते हैं। एप अव्यक्तता एड मोनेटाइजेशन की क्षमता को गंभीर नुकसान पहुँचाती है और यदि एड तुरंत सेवा प्रदान नहीं करती है तो उपयोगकर्ता अपने उपयोग सत्र को अव्यक्तता द्वारा प्रतिकूल प्रभावोत्पादक पाते हैं आपका एप अनुभव , एड़ अनुभव का निहितार्थ होना चाहिए और जो एड निर्माता अव्यक्तता के बारे में नहीं कह पाते, वे धन प्राप्ति या उपयोगकर्ता को रोके रखने के अनेक मोर्चों पर असफल सिद्ध होते हैं।