VMAX
 
 
 
 

इन छह 2016 एप मोनेटाइजेशन प्रवित्तियों द्वारा अपने एप मोनेटाइजेशन का प्रभार लें । 

VMAX-app-monetization-trends-2016-featured

एक एप विकासक के रूप में स्थापना और कलमी करण, दोनों की आपके व्यापार की बढ़ोतरी के लिए जरुरत है। नए एप्स बनाने हैं? यही आपको सर्वोच्च शिखर तक पहुंचाता है पर जब आप उसे बनाते हैं वह कैसे खुद को संभाले रखते हैं और कैसे वे आपके व्यापार को संभाले रखने में मददगार होते हैं? इसका सीधा उत्तर यह है कि आप एप को केवल पैसे कमाने के लिए ही बनाते हैं और अलग शब्दों में कहें तो अपने एप को मोनेटाइज करें। 

हालांकि एप मोनेटाइजिंग में स्थान को लेकर बहुत कुछ उठापटक होती है पर आप app monetizationएप मोनेटाइजेशन के सम्बन्ध में जो कुछ भी जानना चाहें, उन सब पर, यह अन्तर्राष्ट्रीय एप मोनेटाइजेशन प्रवित्ति, प्रकाश डालती है।

पेड डाऊनलोड अब गिर रहे हैं।

गार्टनर के द्वारा, किये सर्वेक्षणानुसार पेड डाऊनलोड अब गिर रहे हैं। पेड डाऊनलोड, निरंतर रूप से अंतरराष्ट्रीय बाजार में पतनोन्मुख हैं। 2014 में राजस्व का जो प्रतिशत 69.5 और 2015 में 509.5 था वह 2017 में 37.8 तक गिरने का अनुमान है।

इन एप खरीदी में वर्चस्व बनाये हुए है।

इन एप खरीदी लगातार ग्राहकों के बीच सर्वमान्य स्वीकृति पूर्वक इन एप खरीदी(IAP) में वर्चस्व बनाये हुए है।global in-app purchase share of revenue विश्वव्यापी इन एप खरीदी का राजस्व प्रतिशत जो 2014 में 22.5 प्रतिशत था और जिसके 2015 मवं 30.9 प्रतिशत तक पहुंचने की संभावना थी उसके 2017 में 48 प्रतिशत को छूने का अनुमान है। खासतौर से भारत में, जहाँ क्रेडिट कार्ड धारकों की संख्या केवल 22 लाख है, एप विकासकों के पास ड्राइविंग IAP उपलब्ध है जो कैरियर बिलिंग के रूप में भुगतान ढांचा खड़ा करने का सुनहरा अवसर है। दूसरी तरंग एपल और गूगल ने स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं के लिए अपने एप स्टोर्स में भुगतान की निम्नतम राशि को कम करते हुए INR10(लगभग 15 सेंट) तक लाकर इस IAP को बेहद सस्ता बना दिया है।

फ्रीमिअम कैचेज आरम्भ

मोनेटाइजेशन के फ्रीमिअम मॉडल भी उपयोगकर्ता द्वारा स्मार्टफोन के माध्यम से लाभ खींचते हुए एप्स को मुफ्त लोड करते हैं पर कुछ निश्चित राशि देकर प्रीमियम फीचर्स तक भी पहुँच सकते हैं।IDC और एप एनी,के सर्वेक्षणानुसार फ्रीमिअम, मोनेटाइजेशन का ऐसा मॉडल है जो 2013 और 2014 के बीच 72 प्रतिशत की दर से बढ़ा ।

इन एप विज्ञापन इस बात के लिए देखे जाते हैं|

यद्यपि इन एप खरीदी लेनेवालों को ढूंढते हैं पर इन एप विज्ञापन स्थिरतापूर्वक फल फूल रहे हैं ।December 2015 Vision mobile commerce of things report, मोबाईल कॉमर्स ऑफ़ थिंग्स की रिपोर्ट के अनुसार, विज्ञापन देना एप विकासकों की दृष्टि में  सबसे लोकप्रिय राजस्व मॉडल है और लगभग 31 प्रतिशत विकासक इसका उपयोग करते पाये गए । इन एप विज्ञापनों से प्राप्त राजस्व की अनुमानित राशि 2014 से 2015 के बीच  में USD 2.8 billion in 2014 USD 2.8 करोड़ से 4.3 करोड़ तक आंकी गई जो वर्ष दर वर्ष 55 प्रतिशत की बढ़ोतरी थी ।यह राजस्व प्राप्ति का आंकड़ा 2017 तक USD 10.6 करोड़ की राशि तक पहुंचने का अनुमान है। 

अधिकतम उपयोगकर्ता जुड़ाव हेतु पुरस्कृत एडस को देखें। 

पुरस्कृत एडस एप विकासकों के बीच स्वीकृत बढ़ता हुआ नजरिया है जो उनके उपयोगकर्ताओं को एडस से जोड़ देता है। 
सचाई यह है कि अध्ययन द्वारा यह पता चला है कि पुरस्कार, उदासीन उपयोगकर्ता को फिर एप के उपयोग से जोड़ देते हैं। एप का उपयोग छोड़ देने वालों में से 30 प्रतिशत लोग कुछ पुरस्कार मिलने का प्रस्ताव पाने पर फिर एप का उपयोग करने लगते हैं। जुड़ाव बढ़ाने में मददगार होने के कारण पुरस्कार प्रदाता एडस एप विकासकों में काफी प्रसिद्ध हुए हैं। 
वे एप विकासकों को भी उनके नए एप्स हेतु आवश्यक आरंभिक डाऊनलोड बल पाने में भी सक्षम करते हैं जिससे उनके एप स्टोर की रैंकिंग सुधरती है।सभी एप फॉर्मेट्स में पुरस्कार प्रदाता वीडियोज खेल प्रकाशकों के बीच सर्वाधिक लोकप्रिय एड फॉर्मेट हैं और तेजी से ग्रहण किये जाते हैं।

मूल एडस के साथ दरार रहित उपयोग अनुभव 

मूल एडस ने मोबाईल विज्ञापन की दुनियाँ में चकाचौंध उत्पन्न कर दी है जिसमें वे एप सामग्री के साथ अटूट रूप से जुड़ जाते हैं और विज्ञापनदाता के सन्देश को संदर्भपूर्ण  संस्कारों सहित सौंपते हैं। मूल एडस फॉर्मेट, परम्परागत बैनर्स एडस की तुलना में न केवल 4 गुना अधिक CTR जुड़ाव पाते हैं बल्कि प्रकाशकों के लिए बेहतर eCPMs को संचालित पाते हैं।

यह उल्लेखित झुकाव साफ़ साफ़ इस सत्य को ओर इशारा करते हैं कि भले आज इन एप खरीदारी, एप विकासकों में थोड़ी लोकप्रिय हो, आने वाले दिनों में उनमें से अधिसंख्य एप विकासक इन एप विज्ञापनों को ही चुनेंगे। यदि एक एप विकासक के रूप में आप अपने एप व्यापार से बहुत कुछ पाना चाहते हैं यह झुकाव निश्चित ही यह तय करेगा कि किस तरह आपका एप आपके लिए धन कमा सकता है।